समुद्री मॉडलिंग

Print

विभिन्न वैश्विक और क्षेत्रीय मॉडलों अर्थात एचवायकोम, एमओएम4, सीयूपीओएम, आरओएमएसको चलाने की क्षमताको स्थापित किया गया, जिससे समुद्री पूर्वानुमान सेवाओं में महत्वपूर्ण सुधार हुआ है। पहली बार, देश में अपनी तरह की और देश में ही विकसितहिंद महासागर पूर्वानुमान प्रणाली (आईएनडीओएफएस)को जनवरी 2010 में प्रचालनात्मक बनाया गया था। आईएनडीओएफएस के कोर में अति आधुनिक महासागर सामान्य परिसंचरणमॉडल (ओजीसीएम), क्षेत्रीय महासागर मॉडलिंग प्रणाली (आओएमएस) है, जिसे एकखुले स्रोत कोड के रूप मेंरुटगर्सविश्व विद्यालय, न्यूजर्सी, संयुक्त राज्य अमेरिका द्वाराविकसित और वितरित किया गया।मॉडलमापदंडों और स्रोत कोड में उपयुक्त परिवर्तन करते हुएमॉडल को प्रेक्षित हिंद महासागरविशेषताओं का वास्तविक अनुकरण करने के लिए अनुकूलित किया गया है। वर्तमान में, मॉडलको राष्ट्रीय मध्यम अवधि मौसम पूर्वानुमान केन्द्र (एनसीएमआरडब्ल्यूएफ), नई दिल्ली के वायुमंडलीय मॉडल से प्राप्त सतह पवन फील्डोंध और वायुमंडलीय फ्लक्सोंश के 5 दिवसीय पूर्वानुमान डेटा के साथ चलाया जाता है । तदनुसार, आईएनडीओएफएस5 दिनों के लिए समुद्र विज्ञानी विशेषताओंका पूर्वानुमानभीदेता है।आईएनडीओएफएस, थर्मोक्लाडइन गहराई के एक संकेतक के रूप में 20 डिग्री समताप रेखा,समुद्री सतह धाराओं, समुद्र सतह तापमान, मिश्रित परत गहराई कापूर्वानुमान देता है। निरंतर आधार परपूर्वानुमानों का वैधीकरण किया जाता हैं। विभिन्न प्रयोक्तारओं की आवश्यकताओं को पूरा करने के लिएकेंद्रित अनुसंधान और विकास दृष्टिकोणआईएनडीओएफएसको समर्थन देना जारी रखेगा।

Last Updated On 06/11/2018 - 14:37
Back to Top