प्रेक्षणात्म(क नेटवर्क और डेटा केंद्र

Print

भारतीय मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी), देश भर में फैली 55 वेधशालाओं से मिलाकर बने राष्ट्रीय भूकंप नेटवर्क (एनएसएन) का रख-रखाव करता है। भारत मौसम विज्ञान विभाग क्षेत्रों में भूकंपीय गतिविधि की करीब से निगरानी करने के लिए राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र (एनसीआर) दिल्ली में वीसैट आधारित डिजीटल भूकंपीय टेलीमीट्री प्रणाली के 16 स्‍टेशन और पूर्वोत्तर भारत में वी-सैट आधारित वास्तविक समय भूकंप निगरानी नेटवर्क के 20-स्टेशन का भी रखरखाव करता है। विभाग के परिचालन कार्य में शीघ्र विश्‍लेषण करना तथा भारतीय भूखंड में घटित होने वाले और समुद्र के नीचे सुनामी की संभावना (भारत में) वाले भूकंपों के स्रोत मानदंडों का अनुमान लगाना और कम से कम समय में राहत और पुर्नवास उपाय करने के लिए जिम्‍मेदार संबंधित राज्‍य और केन्‍द्र सरकार की एजेंसियों सहित सभी प्रयोक्‍ताओं को तुरंत सूचना का प्रसारण करना है।  

आईएमडी मुख्यालय, लोदी रोड, नई दिल्ली स्‍थित राष्ट्रीय भूकंप डेटाबेस केन्द्र (एनएसडीसी) में इन सभी नेटवर्क स्टेशनों से एकत्र किए गए आंकड़ों, को संकलित, संसाधित, विश्लेषण और व्यवस्थित ढंग से संग्रहीत किया जाता है। अनुसंधान प्रयोजनों के लिए विभिन्न प्रयोक्‍ता एजेंसियों जैसे कि, बीमा कंपनियों, औद्योगिक इकाइयों, नदी घाटी परियोजनाओं और भारत तथा विदेश में विभिन्न वैज्ञानिक, शैक्षणिक और अनुसंधान एवं विकास संस्थानों को भूकंप डेटा / सूचना और भूकंपनीयता रिपोर्टें भेजी जाती है । राहत और पुर्नवास उपायों, भूकंप आपदा प्रशमन और प्रबंधन संबंधी मामलों और भूकंपीय क्षेत्रीकरण आदि से जुड़ी हुई विभिन्‍न एजेंसियों को भूकंप वैज्ञानिक डेटा और भूकंप संबंधी सूचना भी प्रदान की जाती है। अनुसंधान समुदाय के उपयोग के लिए भूकंपीय एनालॉग चार्ट डेटा के दीर्घ-अवधि संरक्षण हेतु एनालॉग चार्टों को इलेक्‍ट्रॉनिक रूप में डिजीटाइज किया जा रहा है।

क) उद्देश्‍य:

  1. देश में 24x7 आधार पर भूकंपीय गतिविधि की निगरानी और कम से कम संभव समय में विभिन्न प्रयोक्‍ता एजेंसियों के लिए भूकंप जानकारी प्रदान करना।
  2. भूकंपों से संबंधित भौतिक प्रक्रियाओं की बेहतर समझ के लिए उच्‍च विभेदन भूकंपीय और भू भौतिकी डेटा सेटों का सृजन, आफ्टरशॉक्‍स, स्‍वार्म, सूक्ष्‍म झटकों, स्‍थल प्रतिक्रिया अध्‍ययन आदि की मॉनीटरिंग से संबंधित फील्‍ड अन्‍वेषण करने के लिए, महत्‍वपूर्ण स्‍थानों में जीपीएस प्रणालियों और बोर छिद्र सेंसरों की तैनाती।
  3. विभिन्न अवलोकन नेटवर्क द्वारा सृजित भूकंपीय और अन्य भूभौतिकीय डेटा सेटों का व्यवस्थित पुरालेखन।
  4. शेष महत्वपूर्ण ऐतिहासिक सीस्‍मोग्राम की रास्‍टर स्कैनिंग, इलेक्ट्रॉनिक मीडिया में उनका वेक्टर डिजिटलीकरण और पुरालेखन।
  5. अत्याधुनिक उपकरणों के परीक्षण और मरम्मत / सुधार के लिए आधुनिक परीक्षण और रखरखाव की सुविधा बनाना।

ख) प्रतिभागी संस्‍थाएं:

  • भारत मौसम विज्ञान विभाग, दिल्ली
  • राष्ट्रीय भूकम्प विज्ञान केन्द्र, नोएडा

ग) कार्यान्‍वयन योजना:

  1. मौजूदा भूकंपीय अवलोकन प्रणाली और डेटा सेंटर की सुविधा का प्रचालन जारी रहेगा और इसे देश में भूकंपीय गतिविधि की चौबीसों घंटे निगरानी करने के लिए उचित रूप से अपग्रेड/ संवर्धित किया गया।
  2. भूकंपीय रूप से महत्‍वपूर्ण क्षेत्रों में अतिरिक्‍त भूकंपीय स्‍टेशन की स्‍थापना न केवल संसूचन और अवस्‍थिति क्षमताओं में सुधार के लिए की जाएगी बल्‍कि भूकंपीय रूप से सक्रिय क्षेत्रों के विस्‍तृत अध्‍ययन के लिए भी की जाएगी। इस गतिविधि में ग्यारहवीं योजना में शुरू की गई योजनाओं की निरंतरता भी शामिल है।
  3. मौजूदा अवलोकन नेटवर्क जीपीएस और अन्य भूभौतिकीय प्रणाली के साथ संवर्धित किया जाएगा, जहां कहीं आवश्यक हो।
  4. आवश्यकताओं के अनुसार, झटकों, स्‍वार्मस सूक्ष्‍म झटकों की निगरानी करने के लिए, और स्‍थल प्रतिक्रिया के अध्ययन आदि के लिए क्षेत्र अध्ययन किए जाएंगे ।
  5. शेष भूकंपीय एनालॉग चार्टों का रास्‍टर स्कैनिंग और वेक्टर डिजिटलीकरण जारी रखा जाएगा।
  6. विभिन्‍न भूकंपीय उपकरणों के उचित मरम्‍मत और रखरखाव के लिए एक आधुनिक परीक्षण और रख-रखाव वेधशाला स्‍थापित की जाएगी । सृजित विभिन्‍न डेटा सेटों के व्‍यवस्‍थित अभिलेख हेतु मौजूदा डेटा केंद्र की सुविधाएं उचित रूप से अपग्रेड/संवर्धित की जाएगी।

घ) वितरण योग्‍य :

  1. देश में भूकंपीय गतिविधि की निर्बाध चौबीसों घंटे निगरानी, ताकि कम से कम संभव समय में विभिन्न प्रयेाक्‍ता एजेंसियों को भूकंप जानकारी प्रदान की जा सके ।
  2. भूकंप विज्ञान में अनुसंधान एवं विकास को सुसाध्‍य बनाने के लिए देश में भूकंपीय रूप से सक्रिय क्षेत्रों के लिए उच्‍च विभेदन भूकंप वैज्ञानिक और अन्‍य भू भौतिक डेटा का सृजन और व्‍यवस्‍थित अभिलेख।

ङ) बजट की आवश्‍यकता : 70 करोड़

(करोड़ रु)

बजट आवश्‍यकता
योजना का नाम 2012-13 2013-14 2014-15 2015-16 2016-17 कुल
प्रेक्षणात्‍मक नेटवर्क और डेटा केंद्र 20.00 10.00 15.00 15.00 10.00 70.00

 

Last Updated On 06/08/2015 - 11:52
Back to Top