गहरा समुद्र प्रौद्योगिकी विकास

Print

भारत, महासागर के संसाधनों के दोहन के लिए कार्य करता है। इसे ध्‍यान में रखते हुए, रूसी वैज्ञानिकों के साथ मिलकर 5200 मीटर की गहराई पर समुद्र तल के स्‍व स्‍थाने गुणों को मापने के लिए एक उपकरण का विकास और परीक्षण किया गया है। अप्रैल 2010 में रोसब का (दूरस्‍थ प्रचालित वाहन) 5289 मीटर जल गहराई पर परीक्षण सफलतापूर्वक किया गया। भारतीय वैज्ञनिकों द्वारा उपकरण तथा नियंत्रण प्रणाली के लिए संपूर्ण हार्डवेयर एवं सॉफ्टवेयर का विकास किया गया ।   

Last Updated On 11/02/2015 - 11:37
Back to Top